WhatsApp Group Join Now
WhatsApp Group Join Now
राजनीती

पूर्व सांसद जाखड़ बोले : मैं ओसियां से लड़ना चाहता था:कहा- पार्टी को कहा था वो कमजोर कैंडिडेट, मैं जीतकर बताऊंगा..!!



जोधपुर:- कांग्रेस की ओर से मंगलवार रात को जारी हुई चौथी और पांचवीं लिस्ट में एक चौंकाने वाला नाम था…पूर्व सांसद बद्रीराम जाखड़। बद्रीराम जाखड़ पाली से सांसद रह चुके हैं और इस बार ओसियां (जोधपुर) विधानसभा से टिकट मांग रहे थे। इसी सीट से विधायक दिव्या मदेरणा को पार्टी ने दोबारा मौका दिया है। लेकिन, पार्टी ने उन्हें बाली (पाली) से चुनावी मैदान में उतारा है।

▪️ये वो सीट है जहां से कांग्रेस पिछले 35 सालों से जीत हासिल नहीं कर पाई है। पूर्व सांसद का हाल ही में एक वीडियो भी सामने आया था, जिसमें वे ये कहते नजर आ रहे थे कि सरदारपुरा (जोधपुर) के अलावा जोधपुर में कहीं से भी पार्टी टिकट दे दें।

▪️बाली से चुनाव और दिव्या मदेरणा की जगह खुद के टिकट मांगने को लेकर जब उनसे सवाल किया तो वे जाखड़ बोले- मैं सीएम का खास हूं इसलिए नहीं बल्कि मेरे काम की वजह से टिकट दिया गया है। वे ये तक बोले कि मैंने पार्टी को कहा था ओसियां में कैंडिडेट कमजोर है और मैं जीत कर दिखाऊंगा।

▪️सवाल- बाली में 35 साल से भाजपा काबिज है, इस बार आप कैसे यहां जीत का किला फतह कर पाएंगे।
▪️जवाब- रावण का भी दिन आया था और यह उतार चढ़ाव चलता रहता है। 35 साल से भाजपा से जो चुनाव लड़ रहा है उसके सामने मेरे जैसा काबिल कैंडिडेट नहीं आया है। मैंने कभी अपने पर दाग नहीं लगने दिया इसलिए वहां की जनता मुझे जीताएगी। 2013 में यह सीट निकल जाती लेकिन उस समय ये कांग्रेस से नया कैंडिडेट था।

▪️सवाल- दिव्या का टिकट कटवा कर ओसियां से चुनाव लड़ना चाहते थे ?
▪️जवाब– मैं ओसियां से चुनाव लड़ना चाहता था क्योंकि ये मेरा लोकसभा क्षेत्र भी है और मेरी इच्छा भी ये ही थी। मेरे क्षेत्र के नजदीकी होने की वजह से मैंने यहां से टिकट मांगा था लेकिन वर्तमान विधायक का टिकट काटना संभव नहीं था। अब बाली से मिल गया है तो पार्टी ने जहां से टिकट दिया वहां से खरा उतरूंगा।

▪️सवाल – हनुमान बेनीवाल के साथ मिलकर दिव्या को हराने की चर्चा थी ?
▪️जवाब- दिव्या कहती होगी मुझे हराना चाहते हैं, उसकी नीयत में कोई फर्क होगा। मैंने हराने की बात नहीं की। मैंने तो यह स्टेटमेंट दिया था कि दिव्या कमजोर कैंडिडेट हैं। पार्टी से भी कहा था कि कमजोर कैंडिडेट होने की वजह से मुझे टिकट मिले और मैं जीत कर बताऊंगा। पार्टी ने दिव्या को टिकट दिया तो पार्टी को लगता है कि वह जीत सकती है। पार्टी का निर्णय सिर आंखों पर।

▪️सवाल- दिव्या को कमजोर कैंडिडेट मान रहे तो क्या दिव्या चुनाव हारेगी ?
▪️जवाब- पिछले कुछ समय से समीकरण बदले हैं। पार्टी में भी मजबूती आई है। चुनाव लड़ रही हैं जीत भी सकती हैं। अब जो सामने कैंडिडेट आएगा उस पर ये डिपेंड करता है।

▪️सवाल- बाली की सीट कर लेकर कहा कि रणनीति ?
▪️जवाब– कांग्रेस पार्टी की है उसी को लेकर मैदान में उतरेंगे। कांग्रेस के कार्य को लेकर ही पब्लिक से वोट मांगेंगे।

▪️सवाल- अशोक गहलोत के खास माने जाते हैं, क्या इसलिए टिकट मिला ?
▪️जवाब – सीएम का खास हूं इसलिए टिकट नहीं मिला। मैंने पार्टी के लिए खून सींचा हैं। जब भी जरूरत पड़ी गाड़ियां और हजारों की संख्या में कार्यकर्ता लेकर जाता हूं। पार्टी के लिए काम किया है इसलिए पार्टी ने विश्वास कर मुझे टिकट दिया है।

Alpesh Khokhar

🚀 Founder of JaneRajasthan 🌟 Passionate about Culture & Rural Development 🌾 Bringing you the latest updates in the world of Rajasthan 🌿 Committed to sustainable growth and community empowerment 📍 Based in the heart of Rajasthan, India 🇮🇳

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button