WhatsApp Group Join Now
WhatsApp Group Join Now
व्यापार

Apple iPhone: भारत के मुकाबले दुबई में iPhone इतने सस्ते क्यों ?

Agro Rajasthan Desk, New Delhi: आईफोन खरीदना हर कोई चाहता है लेकिन महंगाई के कारण हर कोई खरीद नहीं पाता इस लिए आज आपके लिए गुड न्यूज़ लेकर आए है की आईफोन सस्ते कैसे खरीद पाएगे. 

नए लॉन्च हुए iPhone 15 को खरीदने वालों का एक जुनूनी तबका दुबई निकलने की तैयारी में है, या निकल चुका है. ये कोई नया ट्रेंड नहीं है, और इसे बेवकूफी तो बिल्कुल मत समझिए. क्योंकि, इसका कारण मनोविज्ञान से ज्यादा कीमतों का गणित है. आइये, इसे समझते हैं.

iPhone launch के साथ ही इसके चाहने वालों में अलग अलग लेवल की दीवानगी शुरू हो जाती है. ये वैसा ही है जैसे अपने पसंदीदा हीरो की फिल्म रिलीज होने पर पहले दिन पहला शो देखने की तैयारी. 2007 से शुरू हुई iPhone की यात्रा ने कंज्यूमर के बजाय धर्मावलंबियों का एक समूह तैयार किया है. जिनके लिए एप्पल और आईफोन किसी देवता से कम नहीं हैं. इनका मानना है कि आम लोग फोन यूज़ करते हैं, और उनके जैसे खास लोग आईफोन खरीदते हैं. iPhone खरीददारों को दो भाग में बांटा जा सकता है- एक वो जो नया एडिशन लांच होते ही उसे तुरंत खरीद लेते हैं, और दूसरे वो जो उसके डिस्काउंट का इंतजार करते हैं या फिर पिछला एडिशन खरीदते हैं. इस लेख में पहले वाले समूह पर बात करेंगे.

नए iPhone के स्टोर पर आने से पहले इसके खरीददारों की कतारें हमने दुनियाभर में देखी हैं. iPhone 15 इस मामले में अनूठा नहीं है. लॉन्च के बाद पहले दिन आईफोन हासिल करना किसी ट्रॉफी से कम नहीं होता है. इसे अपने हाथ में पकड़े सोशल मीडिया पर पिक्चर पोस्ट करने का अपना ही लुत्फ है. एक वक्त था, जब आईफोन भारतीय बाजार में देरी से उतारा जाता था, उस दौरान लॉन्च के शुरुआती दिनों में भारत के कई धनाड्य आईफोन हासिल करने के लिए प्रीमियम देने के लिए तैयार रहते थे. ऐसे में दुबई से आईफोन खरीदकर भारतीय बाजार में बेचना एक बिजनेस भी हुआ करता था. अब ये पैटर्न बदला है, लेकिन कीमतों में भारी अंतर के कारण रुका नहीं है. दोनों देशों के बीच iPhone की कीमतों में इतना अंतर है कि इसमें दुबई आने-जाने का खर्च समा जाए. यदि इसी शनिवार-रविवार की दुबई आने-जाने की ट्रिप प्लान करें तो makemytrip पर 23 हजार रुपये में एयर टिकट मिल रहा है. दुबई में एक रात रुकने के लिए किसी होटल का इंतेजाम 10 हजार रुपये में हो जाए तो iPhone 15 pro max के शुरुआती मॉडल को दुबई से खरीदकर लाने का खर्च 1 लाख 33 हजार रुपये होगा. जबकि यह भारत में 1 लाख 60 हजार रुपये में बिक रहा है. दुबई की में iPhone की ये कीमतें तभी मिल पाएंगी, जब भारतीय वहां जाकर रुपए को US डॉलर में बदलवा लें और फिर उससे वहां आईफोन खरीदें. आईफोन खरीदने के लिए दुबई तक का सफर करना तभी अक्लमंदी माना जाएगा, जब आपको iPhone 15 Pro या  iPhone 15 pro max खरीदना हो. आइये, जानते हैं कि iPhone 15 के अलग-अलग मॉडल दुबई में भारत के मुकाबले कितना सस्ते बिक रहे हैं.

भारत में- 79,900 रु. से शुरू

दुबई में- 76,750 रु. से शुरू

यानी, 2250 रु. सस्ता

iPhone 15 plus price

भारत में- 89,900 रु. से शुरू

दुबई में- 85,782 रु. से शुरू

यानी 4118 रु. सस्ता

लेकिन, कीमतों में अंतर का असली खेल शुरू होता है आईफोन के Pro मॉडल्स से…

iPhone 15 pro price

भारत में- 1,34,900 रु. से शुरू

दुबई में- 97,072 रु. से शुरू

यानी, 37,828 रु. सस्ता

iPhone 15 pro max price

भारत में- 1,59,900 रु. से शुरू

दुबई में- 1,15,132 रु. से शुरू

यानी, 44,768 रु. सस्ता

भारत के मुकाबले दुबई में iPhone 15 इतना सस्ता क्यों?

इस अंतर को लेकर पहला सवाल जो मन में आता है वो ये कि एक ही फोन अरब सागर के इस पार और उस पार इतना सस्ता-महंगा क्यों बिक रहा है? एप्पल की रणनीति के जानकार इसके दो कारण बताते हैं. पहला ये कि भारत जैसे देश में करेंसी की वैल्यू के उतार चढ़ाव को भांपते हुए कंपनी पहले ही ऊंची कीमत तय कर देती है. यदि भारतीय करेंसी की वैल्यू बेतहाशा घट भी जाए तो एप्पल के प्रॉफिट पर फर्क न पड़े. दूसरा कारण एप्पल/iPhone के ब्रांड से जुड़ा है. भारतीय कंज्यूमर्स हर आय वर्ग के लोग शामिल हैं. एप्पल अपने ब्रांड की फिक्र करते हुए, इसे बाकी प्रोडक्ट से प्रीमियम रखना चाहता है. चूंकि, दुबई (UAE) एक अमीर मुल्क है, इसलिए एप्पल चाहता है कि वहां के हर बाशिंदे के पास iPhone हो. जबकि भारत में वह चाहता है कि चीनी ब्रांड और सैमसंग खरीदने वाले iPhone यूजर्स अलग दिखें.

दुबई से iPhone 15 खरीदना आकर्षक तो लगता है, लेकिन नियम और शर्तों का क्या?

आईफोन अपनी जबर्दस्त टेक्नोलॉजी और स्मूद यूजर एक्सपीरियंस के कारण अब भी अपना सेलिब्रिटी स्टेटस मेंटेन करके चल रहा है. भले iPhone 14 के मुकाबले iPhone 15 में बहुत ज्यादा शरीरिक बदलाव नहीं किए गए हैं. मतलब कि यह देखने में बहुत कुछ अपने पिछले अवतार की तरह ही है. लेकिन, कहा गया है कि iPhone 15 एक बेहतर कैमरे के साथ आया है. और इसमें c-type चार्जिंग पोर्ट लगा दिया गया है. यानी कि अब यह किसी भी चार्जर से चार्ज हो सकेगा. तो क्या इतने बदलाव के लिए कोई आईफोन खरीदने भारत से दुबई जाएगी? इसके अलावा सवाल और भी हैं. भारत और दुबई में iPhone की कीमतों में फर्क के कारण होना तो ये चाहिए कि भारत के सभी खरीददार इसे दुबई से ही खरीदना चाहेंगे, लेकिन ऐसा है नहीं. तो सवाल उठेगा कि ऐसा क्यों? दुबई से नया फोन खरीदकर उसे यूज़ करते हुए भारत लाना होता है. बॉक्स सहित आईफोन लाने पर कस्टम ड्यूटी लग सकती है. हालांकि, यूजर्स इसे बिना बॉक्स के ही लाते हैं. दूसरा सवाल आता है इसकी वारंटी को लेकर. तो दुबई से खरीदते समय ही iPhone की इंटरनेशनल वारंटी खरीदना समझदारी होती है. हालांकि, iPhone के कई जुनूनी यूजर्स इसकी जरूरत नहीं समझते. उनका मानना है कि जो खराब हो जाए वो iPhone ही क्या?

Alpesh Khokhar

🚀 Founder of JaneRajasthan 🌟 Passionate about Culture & Rural Development 🌾 Bringing you the latest updates in the world of Rajasthan 🌿 Committed to sustainable growth and community empowerment 📍 Based in the heart of Rajasthan, India 🇮🇳

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button